Home भीलवाड़ा मांडलगढ़ देशभर में औसत से 12 फीसदी ज्यादा बारिश, उत्तर-पश्चिम में 5 फीसदी...

देशभर में औसत से 12 फीसदी ज्यादा बारिश, उत्तर-पश्चिम में 5 फीसदी कम

नई दिल्ली l पूरे देश में मानसून चालू सीजन में मेहरबान रहा है, लेकिन उत्तर भारत के प्रति इसकी थोड़ी बेरुखी देखी गई है। हालांकि मौसम विज्ञानियों की माने तो यह बेरुखी जल्द समाप्त होने वाली है। देश की राजधानी दिल्ली और इसके आसपास के इलाके समेत संपूर्ण उत्तर भारत में इस सप्ताह बुधवार से मानसूनी बारिश जोर पकड़ सकती है। देशभर में चालू मानसून सीजन में जहां औसत से 12 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है, वहां उत्तर-पश्चिम भारत में औसत से पांच फीसदी कम बारिश हुई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) से मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार रात से ही दिल्ली-एनसीआर में छिटफुट बारिश की गतिविधियां शुरू हो जाएंगी, लेकिन बुधवार और गुरुवार को ज्यादा बारिश होगी।

देश की राजधानी दिल्ली को जहां बारिश का इंतजार है, वहीं देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मूसलधार बारिश से जन-जीवन प्रभावित हुआ है। उधर, बिहार में भी अत्यधिक बारिश से बाढ़ के हालात बन गए हैं।

आईएमडी के एक वैज्ञानिक ने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड समेत संपूर्ण उत्तर भारत में मानसून का रुख बना हुआ है और जगह-जगह बारिश हो रही है, लेकिन अगले बुधवार से बारिश की गतिविधियां बढ़ जाएंगी।

आईएमडी के अनुसार, चालू मानसून सीजन के दौरान पूरे भारत में एक जून से लेकर पांच जुलाई तक औसत से 12 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। चालू मानसून सीजन में पांच जून तक देशभर में 232.2 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि इस दौरान औसत बारिश 208.2 मिलीमीटर होती है।

वहीं, उत्तर-पश्चिम भारत में एक जून से लेकर पांच जुलाई के दौरान 94.6 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि इस दौरान इलाके में औसत बारिश 99.1 मिलीमीटर होती है।

मध्य भारत में औसत से 21 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। देश के इसी हिस्से में ओडिशा, मुध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और गुजरात आते हैं। बीते कुछ दिनों से मुंबई समेत महाराष्ट्र और गुजरात के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है। मध्य भारत में चालू सीजन में 263.3 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि औसत बारिश इस दौरान 217.7 मिलीमीटर होती है।

दक्षिण प्रायद्वीपीय हिस्से में औसत से 11 फीसदी अधिक बारिश हुई है। देश के इस हिस्से में चालू सीजन में 213.7 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि इस दौरान औसत बारिश 192.3 मिलीमीटर होती है।

वहीं, पूरब और पूर्वोत्तर भारत में औसत से नौ फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। इस इलाके में 454.9 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि इस दौरान औसत बारिश 418.4 मिलीमीटर होती है। देश में सबसे अधिक बारिश इसी क्षेत्र में होती है। इस क्षेत्र में बिहार में इस साल मानसून सीजन में अब तक 63 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। बिहार में एक जून से पांच जुलाई तक 360.4 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि इस दौरान औसत बारिश 220.5 मिलीमीटर होती है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कांग्रेस में बगावत

जम्मू में ग्लोबल गांधी फैमिली नाम के एक एनजीओ के बैनर तले असंतुष्ट कांग्रेसी नेताओं के आयोजन ने तिनके की वह आड़ भी खत्म...

फर्क समझे सरकार

सोशल मीडिया को नियमित करने की बहुचर्चित और वास्तविक जरूरत पूरी करने के मकसद से केंद्र सरकार पिछले हफ्ते जो नए कानून लेकर आई...

भारत-पाकिस्तानः LOC पर शांति की उम्मीद

भारत और पाकिस्तान की सेनाओं की ओर से संयुक्त घोषणापत्र के रूप में गुरुवार को आई यह खबर एकबारगी सबको चौंका गई कि दोनों...

टीकाकरणः नए हालात, नई रणनीति

केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कोरोना के टीकाकरण का दूसरा चरण सोमवार एक मार्च से ही शुरू हो जाएगा और इसके...

Recent Comments